Monday, April 12, 2021

Boeing B-52 Stratofortress: US Air Force AGM-183A hypersonic missile Test Boeing B-52 Stratofortress Latest Updates: अमेरिकी वायुसेना का बोइंग बी-52 स्ट्रैटोफोर्ट्रेस बमवर्षक विमान से हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्ट फेल हुआ


हाइलाइट्स:

  • अमेरिका के हाइपरसोनिक मिसाइल प्रोग्राम को लगा तगड़ा झटका, बड़ा टेस्ट हुआ फेल
  • बोइंग बी-52 विमान से फायर की जानी थी अल्टा फास्ट हाइपरसोनिक मिसाइल
  • रूस-चीन से बढ़ते तनाव के बीच आवाज से 20 गुना तेज मिसाइल को बना रहा है अमेरिका

वॉशिंगटन
अमेरिकी वायु सेना के नए हाइपरसोनिक मिसाइल कार्यक्रम को तगड़ा झटका लगा है। दरअसल टेस्टिंग के दौरान अमेरिकी वायुसेना के लिए बनाई जा रही अल्टा फास्ट हाइपरसोनिक मिसाइल फेल हो गई। इस मिसाइल को कैलिफोर्निया के एडवर्ड्स एयरफोर्स बेस से उड़ान भरने वाले बोइंग बी-52 स्ट्रैटोफोर्ट्रेस बमवर्षक विमान से फायर किया जाना था।

मिसाइल को फायर नहीं कर पाया विमान
सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को बोइंग बी-52 स्ट्रैटोफोर्ट्रेस बमवर्षक विमान ने एजीएम-183 ए एयर-लॉन्च रैपिड रिस्पॉन्स वेपन (एआरआरडब्ल्यू) प्रोग्राम के तहत पहले बूस्टर टेस्ट व्हीकल को फायर करने के लिए उड़ान भरी थी। प्वाइंट मुगु सी रेंज में होने वाले इस टेस्टिंग के दौरान विमान से मिसाइल रिलीज ही नहीं हो पाई। जिसके बाद विमान की सकुशल लैंडिंग करवा ली गई।

अमेरिकी मिसाइल कार्यक्रम को तगड़ा झटका
इस मिसाइल के टेस्ट का फेल होना अमेरिका के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है। अमेरिका इन दिनों चीन और रूस के साथ बढ़ते तनाव के बीच हाइपरसोनिक हथियारों को बनाने की रेस में जुटा हुआ है। इन मिसाइलों को इतनी तेज गति से उड़ान भरने के लिए डिजाइन किया गया है कि वे दुश्मन के एयर डिफेंस जोन, हवाई जहाजों और एयरफील्ड को पलक झपकते ही तबाह कर सकें।

मिसाइल का फिर से टेस्ट करेगा अमेरिका
यूएस आर्मी आर्मामेंट डॉयरेक्ट्रेट प्रोग्राम के एक्जिक्यूटिव ऑफिसर ब्रिगेडियर जनरल हीथ कोलिन्स ने बताया कि एआरआरडब्ल्यू प्रोग्राम अपनी स्थापना के बाद तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस प्रोग्राम के जरिए हमने कई महत्वपूर्ण क्षमताओं को हासिल भी किया है। हालांकि, यह लॉन्चिंग भी हमारे लिए निराशाजनक नहीं रही है क्योंकि इसने हमें सीखने और आगे बढ़ने के लिए अमूल्य जानकारी प्रदान की है। यही कारण है कि हम परीक्षण करते हैं।

आवाज से 20 गुना तेज उड़ने वाली मिसाइल बनाने की तैयारी
इस नई मिसाइल को एजीएम -183 ए एयर-लॉन्च रैपिड रिस्पॉन्स वेपन (एआरआरडब्ल्यू) कहा जाता है। संभावना जताई जा रही है कि अगले कुछ समय में इसे एयरफोर्स में कमीशन किया जा सकता है। इस परीक्षण को मिसाइल की क्षमता को प्रदर्शित करने के उद्देश्य से किया गया था ताकि हाइपरसोनिक स्पीड प्राप्त की जा सके। पेंटागन इस मिसाइल के जरिए आवाज की रफ्तार से 20 गुना तेज चलने वाली मिसाइल को बनाने पर काम कर रहा है।

अमेरिका-नाटो से तनाव, रूस ने दागी दुनिया की सबसे घातक क्रूज मिसाइल जिरकॉन
अमेरिका को चीन की DF-17 मिसाइल से है खतरा
अमेरिका को चीन की डीएफ-17 हाइपरसोनिक मिसाइल से खतरा है। इस कारण वह अपनी मिसाइल डिफेंस टेक्नोलॉजी को अपग्रेड करने की कोशिशों में जुटा है। यह हाइपरसोनिक मिसाइल लंबी दूरी तक सटीक निशाना लगाने में माहिर है। ऐसे में अगर चीन हमला करता है तो अमेरिका को गुआम या जापान में मौजूद अपने बेस की सुरक्षा के लिए तगड़े इंतजाम करने पड़ेंगे। चीन की DF-17 मिसाइल 2500 किलोमीटर दूर तक हाइपरसोनिक स्पीड से अपने लक्ष्य को भेद सकती है।

रूस ने फिर दागी दुनिया की सबसे घातक हाइपरसोनिक मिसाइल, 9888 किमी प्रति घंटा है स्पीड
क्या होती हैं हाइपरसोनिक मिसाइलें
हाइपरसोनिक मिसाइल आवाज की रफ्तार (1235 किमी प्रतिघंटा) से कम से कम पांच गुना तेजी से उड़ान भर सकती है। ऐसी मिसाइलों की न्यूनतम रफ्तार 6174 किमी प्रतिघंटा होती है। ये मिसाइलें क्रूज और बैलिस्टिक मिसाइल दोनों के फीचर्स से लैस होती हैं। लॉन्चिंग के बाद यह मिसाइल पृथ्वी की कक्षा से बाहर चली जाती है। जिसके बाद यह टारगेट को अपना निशाना बनाती है। तेज रफ्तार की वजह से रडार भी इन्हें पकड़ नहीं पाते हैं।


हाइपरसोनिक मिसाइल को क्यों माना जाता है खतरनाक
आम मिसाइलें बैलस्टिक ट्रैजेक्‍टरी फॉलो करती हैं। इसका मतलब है कि उनके रास्‍ते को आसानी से ट्रैक किया जा सकता है। इससे दुश्‍मन को तैयारी और काउंटर अटैक का मौका मिलता है जबकि हाइपरसोनिक वेपन सिस्‍टम कोई तयशुदा रास्‍ते पर नहीं चलता। इस कारण दुश्‍मन को कभी अंदाजा नहीं लगेगा कि उसका रास्‍ता क्‍या है। स्‍पीड इतनी तेज है कि टारगेट को पता भी नहीं चलेगा। यानी एयर डिफेंस सिस्‍टम इसके आगे पानी भरेंगे।



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles